राम भक्ति

Search

गणनायक महाराज को प्रथम करा आहवान लिरिक्स

ganayak maharaj ko parnaam kra ahvaan lyrics

तर्ज : देना हो दीजिये….

गणनायक महाराज को प्रथम करा आहवान,
म्हारा कारज सफल बनादो, थारो ऊँचो स्थान ॥

शिवयोगी का पुत्र लाड़ला, पार्वती का प्यारा हो,
एक दन्त गजवदन विनायक, सब देवां स न्यारा हो,
आ जाओ दूंद दुंदाला, म्हे करां थारा गुणगान ॥

RELATED – बजरंगी तेरा सोटा कमल

राम दीवाना हो मस्ताना झूमे देखो बजरंगबली

ऋषि मुनि और देवी देवता, करै बड़ाई थारी जी,
ऋद्धि सिद्धि शुभ लाभ के दाता, थे सबका हितकारी जी,
सब शुभ कामां म देवा, होव थारो सम्मान ॥

थान्न प्रथम मनाय करां हाँ, म्हे किर्तन को शुभ आरम्भ,
देरी मतना करो दयालू, अब आ जाओ थे अविलम्ब,
संग देवी देवता ल्याज्यो, थारी सब स पहचान ॥

“सेवक मण्डल” का सब टाबरिया, हर्ष हर्ष गुण गाव है,
“बिन्नू” भी भगतां क सागै, जय जयकार लगाव है,
किर्तन में रंग जमाज्यो, मानांगा म्हें एहसान ॥

Scroll to Top