राम भक्ति

Search

राम जी से पूछे जनकपुर के नारी बता द बबुआ लिरिक्स

Table of Contents

RELATED – कण कण में कृष्ण समाये है भक्तों ने हरि गुण गाए हैं

बारहवाँ अध्यायः भक्तियोग- श्रीमद् भगवदगीता

राम जी से पूछे जनकपुर के नारी बता द बबुआ लिरिक्स

राम जी से पूछे जनकपुर की नारी,

बता दा बबुआ लोगवा देत कहे गारी,

बता दा बबुआ ॥

तोहरा से पुछु मैं ओ धनुषधारी,

एक भाई गोर काहे एक काहे कारी,

बता दा बबुआ लोगवा देत कहे गारी,

बता दा बबुआ ॥

इ बूढ़ा बाबा के पक्कल पक्कल दाढ़ी,

देखन में पातर खाये भर थारी,

बता दा बबुआ लोगवा देत कहे गारी,

बता दा बबुआ ॥

राजा दशरथ जी कइलन होशियारी,

एकता मरद पर तीन तीन जो नारी,

बता दा बबुआ लोगवा देत कहे गारी,

बता दा बबुआ ॥

कहथिन सनेह लता मन में बिचारिन,

हम सब लगैछी पाहून सर्वो खुशहाली,

बता दा बबुआ लोगवा देत कहे गारी,

बता दा बबुआ ॥

राम जी से पूछे जनकपुर की नारी,

बता दा बबुआ लोगवा देत कहे गारी,

बता दा बबुआ ॥

राम जी से पूछे जनकपुर के नारी

Scroll to Top