राम भक्ति

Search

सजा दो घर को गुलशन सा | Sajado Ghar Ko Gulshan Sa

सजा दो घर को गुलशन सा | Sajado Ghar Ko Gulshan Sa | Ram Bhakti Lyrics

RELATED – भजन करी महादेव – संत जनाबाई अभंग – १७२

पकड़ लो हाथ बनवारी लिरिक्स | pakad lo haath banwari lyrics

saja do ghar ko gulshan sa avadh mein ram aaye hain lyrics

सजा दो घर को गुलशन सा मेरे सरकार आए

सजा दो घर को गुलशन सा,
अवध में राम आए हैं,
अवध मे राम आए है,
मेरे सरकार आए हैं,
लगे कुटिया भी दुल्हन सी,
अवध मे राम आए हैं,
सजा दो घर को गुलशन सा,
अवध मे राम आएं हैं ।पखारों इनके चरणों को,
बहा कर प्रेम की गंगा,
बिछा दो अपनी पलकों को,
अवध मे राम आए हैं,
सजा दो घर को गुलशन सा,
अवध मे राम आए हैं ।

तेरी आहट से है वाकिफ़,
नहीं चेहरे की है दरकार,
बिना देखेँ ही कह देंगे,
लो आ गए है मेरे सरकार,
लो आ गए है मेरे सरकार,
दुआओं का हुआ है असर,
दुआओं का हुआ है असर,
अवध मे राम आए हैं,
सजा दो घर को गुलशन सा,
अवध मे राम आए हैं ।

सजा दो घर को गुलशन सा,
अवध में राम आए हैं,
अवध मे राम आए है,
मेरे सरकार आए हैं,
लगे कुटिया भी दुल्हन सी,
अवध मे राम आए हैं,
सजा दो घर को गुलशन सा,
अवध मे राम आएं हैं ।

saja do ghar ko gulshan sa lyrics

Scroll to Top